Chanakya Hindi Quotes

Chanakya Hindi Quotes

 

 

वो जिसका ज्ञान बस किताबों तक सीमित है

और जिसका धन दूसरों के कब्ज़े मैं है, वो ज़रुरत

पड़ने पर ना अपना ज्ञान प्रयोग कर सकता है ना धन।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

जो सुख-शांति व्यक्ति को आध्यात्मिक शान्ति के अमृत

से संतुष्ट होने पे मिलती है वो लालची लोगों को बेचैनी से

इधर-उधर घूमने से नहीं मिलती।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

प्रतिदिन हमें कुछ न कुछ नया ग्रहण करना चाहिए, फिर चाहे

वह एक श्लोक, उसका एक अंश अथवा एक शब्द मात्र ही क्यों न हो।

एक-एक शब्द ही एक दिन विशाल समुद्र का रूप धारण कर लेता है।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

 

गाय चाहे जो खा ले दूध ही देगी।

इसी प्रकार विद्वान कैसा भी

आचरण करे, वह निश्चित ही

अनुकरणीय होगा, परन्तु यह तथ्य

केवल समझदार ही समझ सकता है।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

 

समय का चक्र किसी के

रोके नहीं रुकता, चलता रहता है।

अतः समय को पहचान कर उसके

अनुसार कर्म करना चाहिए।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

Chanakya Hindi Quotes

 

 

धन के अभाव में व्यक्ति को गरीब नहीं कहा जा सकता।

धन तो कभी भी अर्जित किया जा सकता है, किन्तु

मूर्ख- विद्याहीन धनवान होने पर भी हीन का हीन ही रह जाता है।

समाज में उसे उचित स्थान नहीं मिलता।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

ज्ञान से बढ़कर कोई दूसरा गुरु नहीं,

काम-वासना के समान कोई दूसरा

रोग नहीं, क्रोध के सामान कोई आग

नहीं और अज्ञानता के जैसा शत्रु कोई नहीं।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

 

दूसरों का सहारा लेने पर व्यक्ति का स्वयं का अस्तित्व गौण हो

जाता है, जिस प्रकार सूर्योदय होने पर चंद्रमा का प्रकाश अपनी

चमक खो बैठता है।अतः महान वही है जो अपने बल पर खड़ा है।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

भोजन महत्वपूर्ण नहीं है ,

महत्वपूर्ण है कार्य व उसके

प्रति निष्ठा। पेट तो जानवर

भी भर लेते हैं। अतः मानव बनो ।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

नीम कि जड़ में मीठा दूध

डालने से नीम मीठा नहीं हो

सकता, उसी प्रकार कितना

भी समझाओ, दुर्जन व्यक्ति

का साधु बनना मुश्किल है।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

Chanakya Hindi Quotes

 

 

अतिथि का सत्कार न करने वाला,

थके-हारे को आश्रय न देने वाला

और दूसरे का हिस्सा हड़प करने

वाला, ये सब लोग महापापी होते हैं।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

सीधेपन का लोग लाभ उठाते हैं।

मनुष्य को इतना सरल-हृदयी नहीं

होना चाहिए कि हर कोई उसे ठग ले।

जंगल में सीधे खड़े वृक्षों को ही काटा

जाता है। टेढ़े-मेढ़े वृक्ष सीना ताने खड़े रहते है।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

समझदार वही है जो फूँक-फूँक

कर कदम रखे, पानी को छानकर

पिए, शास्त्रानुसार वाक्य बोले और

सोच-विचार कर कर्म करे. इस तरह

किए गए कार्य में सफलता अवश्य मिलती है।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

 

भावनाएं इंसान को इंसान से जोड़ती हैं।

दूर रहने वाला भी यदि हमारा प्रिय है तो वह हमेशा

दिल के पास रहता है, जबकि पास रहने वाला भी हमारे दिल

से कोसों दूर ही रहता है क्योंकि उसके लिए हमारे दिल में जगह नहीं होती।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

जो मनुष्य न तो विद्वान है,

न दानी है, न साधक,

जिसमें शीलता का अभाव है,

गुणहीन है, अधर्मी है, ऐसे

मनुष्य पृथ्वी पर भार के समान है।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

Chanakya Hindi Quotes

 

बिना सत्य के सारा संसार व्यर्थ है।

संसार में सब कुछ सत्य पर टिका है।

सत्य के तेज से ही सूर्य तपता है,

सत्य पर ही पृथ्वी टिकी है, सत्य के

प्रभाव से ही वायु बहती है।

सत्य ही जीवन का सच है।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

 

सुपात्र को दिए गए धन का

फल अनन्त काल तक मिलता

रहता है। भूखे को दिए गए

भोजन का यश कभी खत्म नहीं होता।

दान देना सबसे महान कार्य है।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

 

विद्या ही सर्वोच्च धन है। विद्या के कारण ही खाली हाथ

होने पर भी विदेश में भी धन कमाया जा सकता है तथा मान

सम्मान बढ़ाया जा सकता है। विद्या के अभाव में उच्च कुल में

जन्मा व्यक्ति भी सम्मान नहीं पाता है।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

 

मनुष्य अकेला ही जन्म

लेता है, अकेला ही दुःख

भोगता है, अकेला ही मोक्ष

का अधिकारी होता है और

अकेला ही नरक जाता है।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

Chanakya Hindi Quotes

 

 

बुद्धिमान वही है जो अपनी कमियों

को किसी के सामने उजागर न करें,

घर की गुप्त बातें, धन का विनाश,

दुष्टों द्वारा धोखा, अपमान, मन का

चिंता इन बातों को अपने तक ही

सीमित रखना चाहिए।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

 

मनुष्य रूप, यौवन और मदिरा

में खोकर अपने आप को ही

भूल जाता है, लेकिन जब

उसे होश आता है तो नरक

का द्वार उसके सामने होता है।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

 

गुणों से ही मनुष्य महान बनता है,

न कि किसी ऊँचे स्थान पर बैठ

जाने से। राजमहल के शीर्ष पर

बैठ जाने पर भी कौआ गरुड़ नहीं बनता।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

 

जिसके पास स्वयं अपनी बुद्धि

नहीं है उसके लिए शास्त्र क्या

कर सकते है। आँखों के अंधे

के लिए दर्पण क्या करेगा।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

 

ऋण, शत्रु और

रोग को समाप्त

कर देना चाहिए।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

Chanakya Hindi Quotes

 

शत्रु की दुर्बलता

जानने तक उसे

अपना मित्र बनाए रखें।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

 

 

हे बुद्धिमान लोगों !

अपना धन उन्ही को दो

जो उसके योग्य हों और

किसी को नहीं। बादलों के

द्वारा लिया गया समुद्र का

जल हमेशा मीठा होता है।

-चाणक्य

Chanakya Hindi Quotes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *